WORLD DIVYANG DIVAS 2018

विश्व दिव्यांग दिवस
दिव्यांग समानता, संरक्षण एवं सशक्तिकरण अभियान
 दिव्यांग स्नेह मिलन एवं सांस्कृतिक  कार्यक्रम
1.प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व-विद्यालय के तत्वाधान में विश्व दिव्यांग दिवस के अवसर पर दिव्यांग समानता, संरक्षण एवं सशक्तिकरण विषय के अतर्गत अंचल में अनेकानेक कार्यक्रम आयोजित किये गये। भारत भवन उरगा में आयोजित कार्यक्रम में भ्राता आत्माराम पन्ना जिला पंचायत सदस्य ने कहा कि मान्नीय अब्राहम लिंकन अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति का उदाहरण देते हुए कहा कि वो भी दिव्यांग की श्रेणी में आते थे, लेकिन उनके जीवन एक छोटी सी बच्ची की सलाह ने उनकी विचार धारा में बड़ा परिवर्तन लाया। भ्राता समयलाल जगत सरपंच ग्राम पंचायत उरगा ने कहा कि दिव्यांग को आवश्यक सहयोग देकर आगे बढ़ाना चाहिये और उनसे मित्रवत् व्यवहार करना चाहिए। वरिष्ठ नागरिक पीला दाउ कंवर ने कहा कि सभी के साथ हमारा व्यवहार स्नेह व प्यार का होना चाहिए। डाॅ. के.सी. देबनाथ ने कहा कि सभी रोगों की एक ही दवा है कि मन को शांत रखे और खुशी की खुराक सदा खाते रहें। शरीर का कोई अंग कार्य नहीं भी कर रहा है लेकिन ईश्वर की शक्तियों पर भरोसा कर सदा ही जीवन में प्रयत्नषील रहना चाहिए। ब्रह्माकुमारी रीतांजली बहन ने कहा कि राजयोग के अभ्यास से मन शांत रहता है और विपरीत परिस्थितियों में भी ईष्वरीय शक्तियों की अनुभूति होती है। डाॅ. भवर सिंह पोर्ते मा. विद्यालय की छात्रायें कु. निकिता, रिचा, भावना 7 वीं  ने स्वागत गीत की प्रस्तुति की। भ्राता महावीर सिंह राजपूत पूर्व जिला पंचायत सदस्य ने मंच संचालन किया तथा बहन चेतना ने धन्यवाद ज्ञापित किया।
2.ग्राम पंचायत भवन कोरकोमा में आयोजित दिव्यांग स्नेह मिलन एवं सांस्कृतिक  कार्यक्रम में पंडित आनंद कुमार त्रिपाठी ने भजन सुनाकर सभी का भाव विभोर कर दिया। भ्राता कमल कर्माकर पूर्व महाप्रबंधक बाल्को ने कहा कि घटनायें किसी के जीवन में घट सकती हैं इसलिये दिव्यांगों को दूसरी नजरों से न देख उनका संरक्षण करना चाहिए। भ्राता शेखरराम ने कहा कि कर्मों की गति पर प्रकाश डालते हुए कहा  कि यह संसार नाटक शाला है, जिसमें अनेक जन्मों का हिसाब आत्मा को चुक्तू करना ही पड़ता है।  ब्रह्माकुमारी लीना बहन ने कहा कि षरीर तो एक मोटर कार की तरह है इसे अच्छे से चलाने की कला भी हरेक को आनी चाहिए। भ्राता खगेश्वर कुमार सोनी ने कार्यक्रम के संयोजन में अपनी भूमिका निभाई।
3.शा. हाई स्कूल सोनपुरी में आयोजित कार्यक्रम में कु. जयंती, किरण, रामकुमारी, सरस्वती 10वीं ने स्वागत गीत प्रस्तुत किया। बहन जन कुंअर सरपंच ने कहा कि बच्चों, हम तो कम पढ़े हैं लेकिन आप लोग मोबाईल और टी. वी की दुनिया से दूर रहकर पढ़ लिख कर गांव का नाम रोशन करना। भ्राता रतनदास महंत पूर्व सरपंच ने आयोजित कार्यक्रम की सराहना करते हुए कहा कि यह जो अभियान संस्था द्वारा चलाया जा रहा है, यह लोगों में निश्चित ही जन जागृति लायेगा। भ्राता नरेश कुमार अध्यक्ष दिव्यांग समिति ने कहा कि  मैं कई कार्य करता हूं और आटो भी चला लेता हूंॅ। दिव्यांगों के स्वास्थ्य के प्रति सहायता के लिये विशेष अभियान चलाया जाना चाहिए। भ्राता विनोद कुमार ने कहा कि मैं दिव्यांग होते हुए भी कभी जीवन में हार खाना व पीछे हटना नहीं सीखा है। भ्राता बी. आर. लहरे ने कहा कि मैं संस्था द्वारा इस तरह के कार्यक्रम आयोजित कर, दिव्यांग और बुजुर्गों के सहायता के धन्यवाद ज्ञापित करता हूं। बहन सरोज तिर्की शिक्षिका ने धन्यवाद ज्ञापित किया। उपस्थित दिव्यांगों एवं बुजुर्गों को ईश्वरीय उपहार तथा प्रसाद वितरण किया गया। डाॅ.के.सी.देबनाथ के द्वारा स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। ब्रह्माकुमारी भारतीय के राजयोग का अभ्यास कराया गया। विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण भी किया गया।