News

ANTRIK SHANTI ANUBHUTI BHAWAN LOKARPAN

????????????????????????????????????

नव निर्मित आन्तरिक षांति अनुभूति केन्द्र का लोकार्पण

कोरबा 09.02.2020- प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय द्वारा संचालित नव निर्मित आन्तरिक षांति अनुभूति केन्द्र कोहडि़या का उद्घाटन मान्नीय जयसिंह अग्रवाल राजस्व आपदा प्रबंधन मंत्री छ.ग. षासन एवं नगर के गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर भ्राता जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि अच्छे मार्ग पर परेषानियां तो आती ही हैं, लेकिन लगातार प्रयास करते रहने से ईष्वर सफलता भी प्रदान करता ही है। आपने कहा कि यह संस्था आपसी भाई-चारा, प्रेम, बन्धुत्व का पाठ पढ़ाती है। मेरी यह षुभ कामना है कि यह संस्थान मेरे विधान सभा क्षेत्र के हर एक स्थान पर हो। जिससे लोग अपने जीवन में षांति की अनुभूति कर सकें। आपने कहा कि कोरबा के चंहुमुखी विकास के लिये षासन लगातार कार्य कर रही है। सड़क सुधार के लिये भी ध्यान दिया जा रहा है। भ्राता राजकिषोर प्रसाद महापौर नगर पालिक निगम कोरबा ने कहा कि मैं जब जब इस संस्था में जाता हूॅं मुझे अपनापन महसूस होता है और यहाॅं के भाई और बहनों की रूहानियत को देखकर षांति की अनुभूति होती है, इसलिये अधिक से अधिक संख्या में जुड़कर आंतरिक षांति की अनुभूति करना चाहिए। भ्राता ष्याम संुदर सोनी सभापति नगर पालिक निगम कोरबा ने कहा कि मैं यहां पर आमंत्रित होकर स्वयं में गौरवान्वित महसूस कर रहा हूॅं। आंतरिक षांति अनुभूति केन्द्र से यहां के लोगों को निष्चित ही फायदा मिलेगा। भ्राता अमरजीत एम.आई.सी. सदस्य नगर पालिक निगम कोरबा ने इस अवसर पर अपने वार्ड कुसमुण्डा में भी स्थानीय सेवाकेन्द्र स्थापित करने का षुभ संकल्प लिया। भ्राता एम.डी.माखीजा वरिश्ठ समाज सेवी ने कहा कि आज से यह आध्यात्मिक केन्द्र मेरे उद्योग के पास स्थापित होने से मुझे अत्याधिक प्रसन्नता हो रही है। यहां आसपास के लोगों को इसका निष्चित ही लाभ मिलेगा। ब्रह्माकुमारी रूकमणी बहन ने अपने आषीश वचन में कहा कि आज सभी के पास सब कुछ होते हुए भी अंदर से कुछ खालीपन की महसूसता होती है। यह केन्द्र लोगों को आंतरिक सुख, षांति प्रेम आनंद की अनुभूति करायेगा। आपने सभी को 7 दिवसीय राजयोग षिविर करने के लिये आमंत्रित किया। भ्राता संतोश राठौर एम.आई.सी, भ्राता आर.के.चैबे, विवेक रिछारिया, प्रकाष चन्द्रा, विनोद नेताम एवं अनेकानेक अधिकारी एवं जन सामान्य ने इस कार्यक्रम से लाभान्वित हुए। ब्रह्माकुमारी बिन्दु बहन ने आंतरिक षांति की अनुभूति राजयोग के अभ्यास से कराई। मंच का संचालन भ्राता षेखराम सिंह ने किया।