News

PARSHAD SAMMAN NAGAR PALIK NIGAM KORBA

नव निर्वाचित पार्शद का सम्मान समारोह आयोजित
कोरबा 10.02.2020- आध्यात्मिक ऊर्जा पार्क में प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईष्वरीय विष्व विद्यालय के सानिध्य में नगर पालिक निगम के नव निर्वाचित पार्शदों का सम्मान सिर पर मुकुट पहनाकर, षाल और प्रभु उपहार के द्वारा, मान्नीय जयसिंह अग्रवाल राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री छ.ग. षासन के मुख्य आतिथ्य में आयोजित किया गया। इस अवसर पर भ्राता जयसिंह अग्रवाल ने कहा कि महापौर, सभापति और पार्शदों को आर्षीवाद देने के लिये और उनके सम्मान के लिये यह कार्यक्रम आयोजित किया। यह एक अच्छी बात है, एक अच्छी पहल है और एक अच्छा कार्यक्रम है। मैं तो यही कहूंगा कि कोरबा क्षेत्र के विकास में सबका योगदान चाहे कोई कम करे या ज्यादा करे, सभी को अपना योगदान देना चाहिए। जिस प्रकार से अभी लगातार चुनाव होते रहे हैं, उसमें नगर पालिक निगम षहर की एक महत्व पूर्ण संस्था है। जिसके बहुत से दायित्व है, जो आम लोगों से जुड़े हुए हैं, उन कामों को करने की जवाबदारी नगर पालिक निगम है। जिसमें विभिन्न पार्टी के पार्शद चुनकर आये, सभी की जवाबदारी है कि मिलकर क्षेत्र के विकास में अपनी सहभागिता निभायें, सब मिलजुल कर काम करें। सब मिलजुल कर क्षेत्र के विकास के लिये काम करेगें, ध्यान देगें, सोचेगें, तो निष्चित ही जनता उनको आर्षीवाद भी देगी और जयजयकार भी करेगी। मेडिकल कालेज और रोड आदि के बारे में मुख्य मंत्री महोदय से चर्चा की जा चुकी है, जो षीघ्र ही क्रियान्वित होगी। भ्राता राजकिषोर प्रसाद महापौर नगर पालिक निगम कोरबा ने कहा कि संस्थान के पवित्र प्रांगण में, प्रजापिता ब्रह्माकुमारी बहनों के द्वारा हमारा इतना आत्मिक सम्मान किया गया, मैं इसे सम्मान को हृदय की अनंत गहराईयों में सजोकर रखूंगा और इसे अपने कर्तव्यों के निर्वहन के लिये जिस तरह एक बेल बजाते हैं उस तरह से स्वीकार करूंगा। यह दिन और सम्मान, आगे भी हमारे नगर पालिक निगम के कार्यकाल में स्मरणीय दिवस होगा। भ्राता ष्याम संुदर सोनी सभापति नगर पालिक निगम कोरबा ने कहा कि इस संसार में सबसे बड़ी सेवा मानव सेवा है और हम अपना कुछ समय निकालकर ईष्वर को याद करें, कुछ समय निकालकर प्रभु का ध्यान करें। हम कुछ उदेष्य लेकर संसार में पैदा होते हैं, लेकिन संसार की मोह माया में फंस जाते हैं। मोह माया से दूर करने के लिये प्रजापिता ब्रह्माकुमारी की सम्मानीय बहने ईष्वर से मिलने का जो मार्ग बतलाती हैं, मैं इनका तह दिल से धन्यवाद देना चाहूंगा। ब्रह्माकुमारी रूकमणी बहन ने अपने आषीश वचन में कहा कि जिस रामराज्य की कल्पना महात्मा गांधी जी ने की थी वह अब षीघ्र इस धरा पर आने वाली है। जो राम की दुनिया होगी, श्रीकृश्ण की दुनिया होगी। सभी मर्यादा पुरूशोत्तम होगें सभी के सिर पर पवित्रता ताज होगा। परमात्मा षिव इस धरा उस रामराज्य की स्थापना सहज राजयोग के माध्यम से कर रहें हैं। यह समय परिवर्तन की बेला है। आज यह ताजधारी सभा देखकर मुझे बड़ी प्रसन्नता हो रही है। परमात्मा ने आज चुनकर यह अवसर कुछ विषेश कार्य करने के लिये आपको चुना है। इस गरिमा का पहचानें। सच्चे प्रेम और सच्ची षांति का श्रोत एक परमात्मा ही है। आप सभी भी सभी मिलजुलकर रहिये और सभी कार्य कीजिये तो आपके वार्ड में भी परमात्मा षिव की कृपा बरसती रहेगी। आपका सारा वार्ड षांतिमय, सुखमय और प्रेम हो जायेगा। आप भी इस संस्था के कार्य में सहयोगी बन अपने वार्ड के लोगों को इसका लाभ पंहुचाईये। पार्शद भ्राता संतोश राठौर, नरेन्द्र देवांगन, अमरजीत सिंह, बहन रितु चैरसिया भ्राता महेष भावनानी ने भी सभी को अपनी बधाईयां और षुभकामनायें प्रेशित की। ब्रह्माकुमारी बिन्दु बहन षब्दों से स्वागत किया तथा मंच का संचालन ब्रह्माकुमारी विद्या बहन ने किया। बहन कंचन मौर्या तथा कु. अतुल्या ने स्वागत गीत और नृत्य की प्रस्तुति की।